Tawiz To Destroy Your Enemy

Tawiz To Destroy Your Enemy:-

To destroy your enemy this is a very effective way ,get a print out of your enemies picture and get 7 to 11 prints ,write the name and the mothers name at the back of the picture.now before you proceed get seven sticks of neem tree which are very bitter and recite bissmillah backwards for 786 times and blow them on the neem sticks .now with full anger beat your enemies picture with them until it is completely destroyed by doing it continuously for seven to eleven days your enemy will suffer from great destruction .the taweez has to be written on the back of the picture.

THINGS NEEDED:
PICTURE OF THE TARGET PERSON

NEEM STICKS (SEVEN)

THE TAWEEZ

WHILE DOING THE FOLLOWING OPERATION USE THE INCENSE OF BLACK PEEPER ON BURNING COAL.

THE COMPLETE RITUAL PLUS IJAZET AND TAWEEZ IS FOR 5000 PK RUPEES.

WARNING:
THIS IS NOT TO BE DONE AS AN EXPERIMENT AS IT HAS DANGEROUS EFFECTS ON THE VICTIM OR THE TARGET PERSON

Dushman Ko Barbad Karne Ka Amal

अपने दुश्मन को तबाह व बर्बाद करने के लिए यहा हम एक नक्श दे रहे है इस नक्श पर अमल करे अपने दुश्मन को नुकसान पहुँचाया जा सकता है।

इस नक्श को दिन मे ३१ बार लिखा जाए। नक्श की पुश्त पर दुश्मन उसके माँ बाप सहित लिखे और दोपहर के समय एकांत मे बैठकर उन सब naksh को tez aag मे जला दे और सूर इन्ना आतयना कल कवसर ( पारा अम्म की एक छोटी सूर देखे हिन्दी क़ुरआन ) पड़ता जाय और शबद अब्तर की जगह तीन बार कहे की हुवल अब्तर हुवल अब्तर।

३ दिन के बाद दुश्मन के शरीर पर आबले पड जाए और वह तबाहा व बर्बाद हो जायेगा।

अपने दुश्मन को चोट देने के लिए इस अमल को करे। नमक की सात ककरिया लेकर दोनों के नाम उनकी माँ के नाम सहित यह आयत हर ककरी पर सात सात बार पड कर दम करे और आग मै डाले दोनों में दुश्मनी हो जाएगी। यह अमल शनिवार या सोमवार करना चाहिए। आयत यह है।

व जअलना मीम्बयनी अयदीहिम सददव व मीन खलफिहिम सददन फ़ अगशयनाहूम फ़हुम ला युबसिरुंन

इतवार के दिन कव्वे के बाजु का पर और गीदड़ की दुम लाकर दोनों को गोकुल की धुनि दे और इन्हें दुश्मन की चारपाई पर रख दे वह इस पर सोते ही पागल हो जायेगा।
इतवार या मंगल के दिल घुघु का सर लाय और इसे बारीक़ पीस कर दुश्मन के माथे पर डाल दे उसका दिल बेचैन हो जायेगा और वह दर्द के मरे तड़पता रहेगा।
पीर या मंगल के दिन मरघट पर जा कर रात के समय वहा की राख उठा कर लाए और इस रात मे राई या मदार कि लकड़ी का कोयला ताज़ा बना हुआ पीस कर मिला ले दुश्मन बीमार होगा। इसके बाद इस राख पर ये मंतर पड़ कर हवा मई उड़ा दे।
******** ऊमोकर बिन हन स्वाह *********
दुश्मन की तबाही के लिए एक छछून्दर मार कर उसकी खाल उतारे और दुश्मन ने जिस जगह पेशाब किया हो वहा मिटी खाल मै भर कर उसका मुह सी दे अब उसे किसी ऊँची जगह लटका दे. इस अमल से आपके दुश्मन का पेशाब बंद हो जायेगा। यदि खाल मई से मिटी निकल दी जाए तो पेशाब आना शुरू हो जायेगा